Posts Tagged bahan ki chut

बहन के साथ सेक्स का मज़ा

मेरा नाम आदित्या है आंड स्टोरीस की लाइफ मे ये मेरा पहला कदम है. इससे पहले मेने बहुत स्टोरीस पढ़ी है लकिन कभी अपनी स्टोरी किसी के साथ शेर नही कर पाया. अक्सर मे सभी की स्टोरीस पढ़ता हू आंड फाइनली मेने डिसाइड किया की क्यू ना मे अपनी स्टोरी भी रीडर्स तक पहुचाहू, शायद रीडर्स पसंद आए. जैसे की मे पहले बता चक्का हू की मेरा नाम आदित्या है और मे देल्ही का रहने वाला हू. नोट मस्क्युलर बुत फिट बॉडी आंड 5 फीट 11 इंचस हाइट. मेरी फॅमिली मे मम्मी डॅडी आंड मेरी एक सिस्टर है. मदर हाउस वाइफ है आंड पापा का अपना रीटेल बिज़्नेस है, सिस्टर मुझसे दो साल छ्होटी है बुत वी बोत अरे स्टडीयिंग इन थे सेम कॉलेज.
मेरे घर मे सभी की पर्सनॅलिटी काफ़ी प्लीज़िंग है एस्पेशली मेरे डेड की न मेरी सिस्टर की. जिस तरह से मे और मेरी बहन दोनो एक ही कॉलेज मे है तो वो ज़्यादा मॉडर्न बन के पेश नही आती हेल अकिन मेरे फादर इस जस्ट लीके जॅकी श्रॉफ्फ. कॉलेज मे भी अक्सर मेरी फ्रेंड्स कहती है की मेरे फादर की काफ़ी अच्छी पर्सनॅलिटी है. बुत तीस स्टोरी इस टोटली रिलेटेड वित मी सिस्टर आंड हेर नामे इस रीमा. वो डेली कॉलेज मेरे साथ मेरी बिके पे जाती हेल अकिन आने के टाइम वो अपनी फ्रेंड्स के साथ आ जाती है क्यूंकी वो ये भी समझती है की मुझे भी कॉलेज मे लड़कियों के साथ घूमना पसंद है. कॉलेज मे मेरी इमेज एक प्लेबाय से कम नही है लकिन कभी सेक्स का एक्सपीरियेन्स नही ले पाया क्यूंकी देल्ही मे जगह अरेंज करना इतना ईज़ी नही है. मे अभी फाइनल एअर मे था आंड मी सिस्टर इस इन फर्स्ट एअर, उसे ट्रडीशनल कपड़े ही पहन ना ही पसंद है इसीलिए वो सूट-सिल्वर वगेरा पहन कर ही कॉलेज आती है, कभी कभी मों के कहने पे स्कर्ट भी पहन लेती है. मेरी कुच्छ खास फ्रेंड्स है जो अक्सर कहती है की आदित्या अगर रीमा चाहे तो तुझसे हॉट दिख सकती है. अक्सर मे जब उसे बिके पे कॉलेज के एंट्रेन्स पे ड्रॉप करता था तो उसके जाने के बाद मेरी फ्रेंड्स अक्सर कहती थी शुक्रा है रीमा का भाई यहाँ पे है नही तो वो कॉलेज मे एक हॉट बॉम्ब के नाम से जानी जाती. ये सब सुनकर मुझे अजीब लगता था की मेरी वजह से मेरी बहन कॉंप्रमाइज़ कर रही है. मे उन लड़कियों से अक्सर पुचहता की आख़िर क्यू रीमा तुम्हे हॉट लगती है, तो वो सब अक्सर कहती की एक भाई की नज़र से मत देख और फिर देख, ‘’लुक अट हेर बूब्स जैसे अंदर कोई आइरन रोड लगी हो. लुक अट हेर बॅक, पता नही कितने जवान दिलो की धड़कन होगी ये’’. ये सब सुनकर मे भी अपनी बहन को गौर से देखने लगा. ईवन घर मे भी मे उसे गौर से देखता. मेरी गर्ल फ्रेंड अक्सर कहती की आदित्या लेट’स गो सम्वेर वेर वी कॅन हॅव सेक्स, तो मे उसे अक्सर पुचहता किमकया लड़कियों का भी माइंड सेक्स की तरफ अट्रॅक्ट रहता है, तो वो कहती की लड़को से ज़्यादा आंड फिर मुझ पे कॉमेंट भी मारती की लकिन मेरा बाय्फ्रेंड तो कुच्छ करता ही नही है, मेने अपनी गर्ल फ्रेंड को बताया की देख मेरी बहन को, वो भी तो कॉलेज आती हेल अकिन वो इस बारे मे नही सोचती, तो वो बोली की वो तुम्हारी बहन है तुम्हे थोड़ी ना बताएगी, नही तो वो भी तरस रही होगी की उसे कोई आके मसल के रख दे. मे अपनी सिस्टर से इतना फ्रॅंक नही था लकिन धीरे धीरे उसके साथ फ्रॅंक होना शुरू कर दिया. घर पे उसके सामने अपनी गर्ल फ्रेंड्स से बात करना, उसके रूम मे कभी कभी स्मोकिंग कर लेना एट्सेटरा. मे उसे अक्सर पुचहता भी की तुम्हे बुरा तो नही लगता तो वो अक्सर कहती की दीज़ अरे नॉर्मल थिंग्स इन बाय्स. धीरे धीरे मेने उसके दिल का हाल जान ने की कोशिश करने लगा और उसे बताया की मेरी गर्ल फ्रेंड ये कहती है की हर लड़की हॉट दिखना चाहती है, तो रीमा ने बताया की हाँ ये बात सच है. फिर मेने कहा की तुम कॉलेज इतनी सिंपल बन कर क्यू जाती हो, तो उसने कहा की लड़की हॉट दिखती है तो लड़के 100 बार कॉमेंट करते है और वो सब मेरे भाई को अच्छा नही लगेगा. मेने कहा की मुझे नही लगता की रीमा तुम इतनी हॉट दिख पावगी की लड़के तुम पे कॉमेंट करेंगे. वो बोली की चलो फिर आज शॉपिंग करने चलते है, फिर कल कॉलेज मे देखते है की क्या होता है. मेने बिके घर से निकल ली, आंड आज रीमा खुश थी. फिर हम शॉपिंग माल पहुँचे, जहाँ रीमा ने कहा की अच्छा तुम कैसे लड़की हॉट लगती है, मेने कहा की ये बात मे तुम्हे कैसे बतौ, तो उसने कहा भाई डॉन’त बे शाइ, मुझे सब पता है कीट उम कैसे लड़कियों को आँखे खोल खोल के देखते हो. तो मेने भी उसे फ्रॅंक्ली बता दिया की एक हॉट लुक हो जिसे देख के दिल मे हॉट थॉट्स आए चाहे वो सेक्स के ही क्यू ना हो. रीमा बिल्कुल भी शर्मा नही रही थी और वो मेरी बातो को हंस कर सुन रही थी. फिर मेने बताया की बूब्स क्लीवेज अच्छा होना चाहिए आंड बूब्स थोड़े से तो विज़िबल होने ही चाहिए. चल मे एक बात होनी चाहिए, हिप्स का चल के साथ बॅलेन्स बन ना छाईए मीन्स हिप्स का मूव्मेंट अच्छा होना चाहिए. फिर उसने शॉपिंग माल मे बहुत सारे फॅशन टॉप्स आंड बॉटम ट्राइ किए लकिन मुझे ट्राइ रूम के बाहर निकल कर नही दिखाए. फाइनली उसने कुच्छ कपड़े खरीदे आंड हम घर आ गये. रात मे उसने कहा की भैया कल आप कॉलेज अकेले जाएँगे आंड मे खुद आ जौंगी आप के बाद. मेने भी कहा की ठीक है. अगले दिन मे कॉलेज पहुँच गया, ठीक कुच्छ देर बात मेरी गर्ल आई और मेरा हाथ पकड़ के मुझे कॉलेज के गाते पे ले जाने लगी, मेने पुच्छ की क्या बात हेल अकिन उसने नही बताया. मे कॉलेज के गाते पे पहुँचा और देख कर डांग रह गया की मेरी बहन एक सूपर हॉट बॉम्ब की तरह खड़े होके अपनी फ्रेंड्स से बाते कर रही है न सब उसे ऐसे देख रहे है जैसे कोई हॉट सेलेब्रिटी आ गयी हो. डीप नेक टॉप आंड लो वेस्ट स्लिम फिट जीन्स, लाइट मेकप आंड उसके लाइट पर्फ्यूम की खुसबू चारो तरफ बिखर रही थी. उसके बूब्स क्या बतौ कैसे लग रहे थे, इससे पहले मुझे कभी अहसास नही हुआ की उसके बॉब्स इतने हार्ड होंगे. उसने मुझे देखा, एक स्वीट सी स्माइल दी आंड फिर अंदर कॉलेज की तरफ जाने लगी. सभी लड़कियों उसे इन्फीरियर कॉंप्लेक्स के साथ देख रही थी. और सच मे वो सबसे अलग दिख रही थी. वो अंदर ऐसे जा रही थी जैसे कोई रॅंप पे चल रहा हो. उसके इस रूप से तो मे डांग रह गया. शी वाज़ लुकिंग एक्सट्रीम्ली हॉट. कोई लड़का कुच्छ बोल रहा तो कोई कुच्छ. पहली बार मेने फील किया की अपनी सिस्टर को देख के मी डिक वाज़ एरेक्टिंग. ई वाज़ सर्प्राइज़्ड की ये कैसे हो गया. एक सूट सिल्वर मे दिखने वाली सिंपल लदी एक सेक्स बॉम्ब है. कॉलेज मे वो दिन काफ़ी अजीब रहा. ईव्निंग मे रीमा ने कहा की भैया मे अब आपके साथ जौंगी. बिके पे अक्सर वो दोनो लेग्स एक साइड कर के बेत्ति थी लकिन उस दिन फिल्मी स्टाइल मे उसने दोनो लेग्स फेला कर बिके पे बेती. उफ़फ्फ़ उसके बेत्ने का तरीका, मे तो पागल हो गया. रास्ते मे उसके बूब्स को फील करता रहा, वो भी काफ़ी क्लोज़ बेती हुई थी. रास्ते मे बाय्स कॉमेंट भी कर रहे थे की क्या माल है, कोई कह रहा था की क्या कपल है. एक मेरा डिक भी बेत्ने का नाम नही ले रहा था. किसी तरह से हम घर पहुँचे, घर पे मों नही थी वो कही सब्जियाँ लेने के लिए गयी थी. हम दोनो घर के अंदर गये, मे सोफे पे शांत जाकर बेत गया. थोड़ी देर बाद मेरी सिस्टर मुझे पानी दें एके लिए आई, उसने जीन्स चेंज कर ली थी और एक शॉर्ट पहन कर आई थी. जिसमे उसकी थाइस ने मुझे और भड़का दिया. पानी देते टाइम उसने एक स्माइल दी और कहा की लो ठंडा पानी पी लो. फिर मे अपने को रेलेक्ष करने के लिए स्मोकिंग करने लगा और बार बार अपनी बहन का वो रूप मुझे पागल कर रहा था. थोड़ी देर बाद मेरी बहन आई, सामने वेल सोफे पे बेत गयी और कहने लगी भैया टेन्षन मे क्यू हो. और वो हंस भी रही थी. मेने कहा की शायद मुझे कुच्छ चाहिए, मेरी बहन तपाक से बोली की एस ई नो उ नीड सेक्स नाउ. इतना सुनते ही मे उसपे टूट पड़ा, उसने कहा वेट ब्रदर, अभी मों का आने का ख़तरा है. वी विल हॅव प्रॉपर सेक्स इन थे नाइट. मे बहुत खुश हुआ, और उसके होठों पे एक हार्ड स्मूच किया. मे टाइम का वेट करने लगा, भूख भी नही लग रही थी, कुच्छ भी अच्छा नही लग रहा था. बस अपनी बहन की चुचियाँ माइंड मे घूम रही थी. मे आज तक कुँवारा था, सो बातरूम गया और तोड़ा सा आयिल लेकर अपने लॅंड की मालिश करने लगा. ये करीब 10 इंच का था, और इसकी मोटाई से ही अहसास हो रहा था की आज मेरी बहन को इसे झेलना भारी पड़ेगा. मेरे लंड का रूप बहुत ख्टरनाक लग रहा था.
ईव्निंग मे हम अपने टेरेस पे घूम रहे थे, तभी सिस्टर आई और बोली क्या हुआ टाइम नही काट रहा, मेने कहा की दिल कर रहा है की तुझे यही लिटा लू और पूरी रत पेलता राहु. मेरी सिस्टर ने कहा बातो से नही किसी और चीस से पेला जाता है. मुझे लगा की जैसे वो चॅलेंज कर रही है. ठीक है रह हुई और वो मेरे रूम मे आई, 5 या 10 मिनिट क बाद उसने आँखो से बताया की शुरू करे. उसने पिंक ट्रॅन्स्परेंट निघट्य पहनी हुई थी और वो बाला की खूबसूरत लग रही थी. मेने उसे होतो पे किस करना शुरू किया वो भी पूरा सपोर्ट कर रही थी. किस करते करते वो मेरी शर्ट के बटन खोल रही थी, और अंदर बालो भारी चेस्ट पे हाथ फिरा रही थी. उसकी सिसकियाँ मुझे और पागल कर रही थी. धीरे धीरे मेने अपने हाथ उसके बूब्स पे पहुँचा दिए, ओह मयी गोद उसकी ब्रा के अंदर उसके बूब्स बाहर आने को च्चत पता रहे थे. मेने ब्रा का हुक तोड़ दिया, रीमा ने कहा की ब्रो रिलॅक्स, ई म ऑल युवर्ज़. फिर उसने धीरे से मुझे कान पे किस करते हुए कहा की दो योउ वांट्स तो किस मी बूब्स. उसके मूँह से ये बात सुनकर मे पागल हो गया और उसके नंगे बूब्स को चाटने लगा. वो भी अहहहाहाहहाआ…. आहहहहाहा करती जा रही थी. इसके बाद उसने अपने हाथो से मेरे लॅंड को ढूँढना शुरू कर दिया. हमारी लाइट्स ऑफ थी तो रीमा ने कहा की प्लीज़ स्विच ओं थे लाइट्स, ई वांट्स तो हॅव क्लियर पिक्चर ऑफ युवर डिक. मेने लाइट्स ओं की और वो घुटनो के बाल बेत गयी मेरे सामने, मेरी जीन्स और अंडरवेर नीचे करने के बाद उसके मूँह से निकला…वूव्ववववववव. उसके गोरो हाथों की फिंगर्स के बीच मेरा ब्लॅक स्ट्रॉंग डिक क्लियर ही दिख रहा था. थोड़ी देर बाद उसने अपने होतो के स्पर्श से मुझे पागल कर दिया, उसकी फ्लॅव्र्ड लिपस्टिक से मेरा लॅंड महक रहा था. वो भी ऐसे पेश आ रही थी जैसे सकिंग मे कितनी एक्सपर्ट है. मेरे लॅंड से वो बिल्कुल भी दर नही रही थी. फिर मेने उसे बताया की अगर ज़्यादा हुआ तो मे उसके मूँह मे ही डिसचार्ज हो जौंगा. इसके बाद मेने उसे बेड पे धक्का देकर के लिटा दिया और उसकी पनटी को उतरने लगा, उसने अपनी छूट को बिल्कुल चिकना किया हुआ था. मेने ज़्यादा टाइम ना लगते हुए अपने होंठ उसकी छूट से लगा दिए, वो पागल हो चुकी थी और बोल रही थी “ फुक्ककककक मीईईईईईईई, अहह, ब्रोथेर्ररर लेट्स फक मे हर्दर्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर. थोड़ी देर के बाद मेने अपने लॅंड को उसकी छूट पे लगाया, मे खुद भी सोच रहा था की कैसे ये अंदर जाएगा, फिर एक स्माल स्ट्रोक लगाया, बिल्कुल ऐसा अहसास हुआ की उसका कुँवारापन टूट गया. उसकी साँसे अटक गयी और वो बोल रही थी “ स्लोवलय्ययययी, तुम्हारा लॅंड है या गरम लहााअ”. फिर थोड़ी देर के बाद वो नॉर्मल हुए आंड मेने हार्ड स्टोक शुरू किए. हम आपस मे बहुत गंदी गंदी बाते कर रहे थे. पूरा रूम फूच फूच आवाज़ो के साथ गूँज रहा था. करीब 25 मिनिट्स के बाद वो शांत हो गयी और मे भी. उसके चेहरे पे शॅंटी और सॅटिस्फॅक्षन के भाव थे. तब से उसकी बस सेक्स की डिमॅंड है और वो बेहद खूबसूरत भी हो चुकी है.

, , , , , ,

Leave a comment

भाई के साथ रात गुजारी

मेरी एक डोर की बुआ के घर शादी थी, हमारे यहाँ शादिया दिन मे होती हैं. रात मे बस पार्टी और मस्ती करते हैं. हमारी फॅमिली बोहोट खुली है इसलिए पीने पिलाने का दौर बड़े आराम से चलता है. उस दिन भी शादी के बाद सब मस्ती मे थे. रात बोहोट हो जाने की वजह से करीब करीब सारे बुजुर्ग चले गये थे. अब हम सब तकरीबन एक उमरा के लोग ही थे. हम सब भाई बहें कम और फ्रेंड्स ज़्यादा हैं. मैं काफ़ी सालो बाद उनसे मिल रही थी.

अब तो मैं भारी पूरी जवान हो चुकी थी. सभी लोग ड्रिंक्स ले रहे थे, मैने भी एक बियर लिट ही हालाँकि मुझे पीना पसंद नही है पर सबका साथ देना था. वैसे भी मुझे बोहोट जल्दी चढ़ जाती है. मेरी बुआ की ननंद का बेटा जो की मुझसे करीब 10 साल बड़ा है, भी वहाँ था. वो मर्चेंट नेवी मे काम करते है. उनकी हाइट 5.10” थी और बोहोट गातीला बदन था. उन्होने मुझे करीब 6 साल बाद देखा था, मैने एक नूडल स्ट्रॅप टॉप पहना था स्कर्ट के साथ जो की मेरे बूब्स को पूरी तरह दिखा रहा था. वो काफ़ी देर से मुझे चोर नज़रो से देख रहे थे,

मैने धीर्रे से पूछा क्या देख रहे हो भैया पहचाना नही क्या? वो चौक गये, बोले शारी तू कितनी बड़ी हो गयी है पहचान ही नही आती. हमारी बातो का सिलसिला निकल चला था. शोर के कारण हम एक दूसरे के बोहोट कर्रेब हो कर बात कर रहे थे. अपनी लंबाई का फयडा उठा कर वो मेरे बूब्स को बड़ी आराम से देख पा रहे थे. हम दोनो एक दूसरे की तरफ होकर बैठे थे और हमारे चेहरे बोहोट करीब थे , इतने करीब की मैं उनकी साँसे महसूस कर सकती थी. वो बातो बातो मे मुजसे बिल्कुल सात कर बैठ गये और अपना एक हाथ मे कंधे पर रख लिया.

वो मुझे धीरे धीरे अपनी तरफ खीच रहे थे. तेज़ बजता म्यूज़िक, धीमी रोशनी और कुछ शराब का असर, हम सब कुछ भूलते जा रहे थे. मेरे हाथ उनकी थाइस पे थे और उनका हाथ मेरे कंधे से होकर अब मेरे बूब्स के करीब था. मैने अपना सर उनके कंधे पर यू रखा की हमारे हूँठ एक दूसरे के बिल्कुल करीब हो गये. मुझपर बियर से ज़्यादा भैया का नशा छा रहा था. उन्होने मेरे माथे पे एक किस करते हुए मेरे बूब्स हल्के से दबा दिए.

मैने चिहुनकते हुए कहा भैया यहाँ कोई देख लेगा. ये सुनकर वो मुस्कुरा दिए और कहा की यहाँ नही तो और कहाँ? मैने सरक कर खुद को उनसे लिप्ताते हुए उनके कानो मे कहा आप बस जल्दी से यहाँ से निकालने का प्लान बनाओ. वो कहने लगे बोहोट बदमाश हो गयी है तू शारी, और मेरे गालो पे किस कर दिया. मैं मस्ती मे इतरते हुए उन्हे डॅन्स फ्लोर पे ले गयी, स्लो म्यूज़िक तो नई था पर हम क्लोज़ डॅन्स कर रहे थे. वो मेरी पीठ से लग के खड़े थे और उनके हाथ मेरे शरीर पर रेंग रहे थे. मैने उनसे चिपकते हुए अपनी गंद उनके खड़े लंड पे टीका दी.

ऐसा लग रहा था की उनका लंड पंत फाड़ के बाहर आ जाएगा. उन्होने मेरी कमर मे हाथ डालकर कासके पकड़ लिया और अपना लंड मेरी गंद पे रगड़ने लगे. धीरे धीरे उनका एक हाथ मेरे बूब्स मसालने लगा. मैं इतनी गर्म हो चुकी थी वहीं सबके सामने उनका लंड अपनी छूट मे पिलवा लेती. मैने अपनी गंद ज़ोरो से उनके लंड पे रगड़नी शुरू कर दी और धीरे से एक हाथ उनके लंड पे फेरने लगी, उन्होने कस के मेरे बूब्स मसालने शुरू कर दिए.

मैं समझ गयी की वो भी छोड़ने को मचल रहे हैं. उनका एक हाथ मेरे बूब्स और दूसरा मेरे पंत के उपर से छूट से खेल रहा था. अंधेरे के कारण कोई ह्यूम देख नही पा रहा था. उन्होने मुझे अपनी तरफ पलटा कर कहा- अब और नही रुक सकता शारी, कहीं चल नही तो यहीं कुछ कर दूँगा. मैने मस्ती मे अपने हाथ उनकी गार्डेन मे डाल कर कहा-ना मेरे प्यारे भैया, यहाँ नही बुआ के घर मिलो 15 मीं मे. और अपने होंठ उनके होंठो से लगा के बिना किस किए हट गयी. मैं पागल सी हुई जा रही थी और उनका भी यही हाल था.

मेरी छूट से तो पानी राइज़ जर रहा था, मुझे डार्ट हा कहीं पंत के उपर से दिखने ना लगे. मैं धीरे से मौका देख कर वहाँ से बुआ के घर आ गयी, जो की होटेल के पास ही था. वहाँ पे मैं और मेरी एक कज़िन एक ही कमरे को शेर करते थे, पर सब लोग होटेल मे थे इसलिए किसी को पता चलने का दर ही नही था. घर पोोचते ही मैने भैया को पीयेच कर दिया की वो सीधे उपर वेल गेस्ट रूम मे आ जाए. उनके आने के पहले मे रूम मे धीमी रोशनी कर दी और जल्दी से अपने कपड़े उतार कर सिर्फ़ एक गांजी पहें ली. तभी दरवाज़ा खुला, भैया थे.

मैं दरवाज़े के पीछे छुपी थी, उनके आते ही पीछे से आके मैने उनके लंड को रगड़ना शुरू कर दिया. वो मुझे खीच के बेड पे ले गये. मुझे ऐसे गांजी मे देख के पागल हुए जा रहे थे. मेरे बूब्स पे टूट पड़े, उन्हे दबाते, उन्हे चूस्ते, उन्हे काटते जा रहे थे.. इतना मज़ा तो कभी नही आया मुझे.. मैने धीरे से उनकी शर्ट निकल दी और उन्होने मुझे गांजी से आज़ाद कर दिया.. उनका एक हाथ मेरी चिकनी छूट पे चल रहा था.

वो धीरे से उसमे उंगली करने लगे.. मुझसे रहा नही जा रहा था, मैं उछाल उछाल के उंगली से ही छुड़वाने लगी. वो मेरे निपल्स पर काट रहे थे और मुझे उंगली से छोड़ रहे थे. थोड़ी देर मे ही मेरा पानी छ्छूट गया, मैने उन्हे बेड पे लिटाया और उनकी जीन्स निकल दी. उनके उपर बैठ के मैं उन्हे पागलो की तरफ चूम रही थे. होंठो पे, गले पे, चेस्ट पे, नाभि पे और फिर अंडरवेर के उपर से ही मैने उनके लंड को धीरे से काट लिया.

उन्होने झट से लंड निकल के मेरे मूह मे एक मोटी सी धार छ्चोड़ दी. वो भी झाड़ गये थे. पर उनका लंड अभी भी कड़क था. मैने उसे मूह मे लेके चूसना शुरू किया. कभी जीभ से छत लेती, कभी उसे गले तक अंदर ले जाती, कभी टोपे को कस के चुस्ती, तो कभी अंदो को चुस्ती. थोड़ी देर मे ही वो फिर तनटना गया. उन्होने कहा अब चढ़ भी जा. मैने उनके बात सुनके उसे अपनी छूट पे रखा और टोपे को अपने दाने पे रगड़ने लगी.

उन्होने मेरा हाथ हटा के अपने 7इंच ले लंड को एक झटके मे मेरी छूट मे घुसा दिया. फिर तो मैने उचक उचक के छुड़वाना शुरू कर दिया. मैने उन्हे बैठा लिया ताकि लंड छूट के अंदर तक जाए, मुझे ऐसे चूड़ने मे बड़ा मज़ा आता है. वो मेरे बूब्स चूसे जा रहे थे और मैं हिल हिल के चुड रही थी. थोड़ी देर मे उन्होने मुझे नीचे लिटाया और मेरे छूट को छोड़ना शुरू कर दिया… मैं मस्ती ना जाने क्या क्या बक रही थी.

भैया और ज़ोर से छोड़ो, फाड़ तो मेरी छूट, मेरी छूट का भोसड़ा बना दो.. आआहह… कितना प्यारा लॉडा है तुम्हारा… और ज़ोर से… अंदर तक छोड़ो… आअहह….. ज़ोर से मारो… और ज़ोर से… अपनी बहें को अननी रंडी बना लो.. जी भर के छोड़ो… आआहह….वो पूरी ताक़त से अपना लंड मेरी छूट मे मार रहे थे. मैने झड़ने वाली थी. मैने कहा छोड़ो मैं झड़ने वाली हूँ.. और छोड़ो मेरे भैया.. अपनी बहें को झाड़ा दो मेरे भैया.. छोड़ो.. आअहह….. और मैं झाड़ गयी..

मैं उठकर घुटनो के बाल हो गयी. वो मुझे पीछे से कुत्ते की तरह छोड़ रहे थे.. अपने भी खड़ने वेल थे, कहने लगे ले कुटिया बन के अपने भाई का लंड ले.. सारा अपनी छूट मे ले ले… आअहह… तेरी छूट तो अब मैं रोज़ छोड़ूँगा… ले ले सारा पानी…उन्होने सारा माल मेरी पीठ पे निकल दिया. और वहीं पस्त हो के लेट गये.

थोड़ी देर लेटने के बाद कपड़े पहेने और जाने लगे. मुझे एक बड़ी सी किस देते हुए मेरे बूब्स मसल कर कहा. मैं अपने दोस्त के फ्लॅट पे रुका हूँ वो बाहर गया है. कल वहीं मिलेंगे. अब तो तेरी गंद भी मारूँगा. मैने मिलने का वाडा करके विदा ली.

, , , ,

Leave a comment

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.